मोटापा घटने की दवाई | Motapa Ghatane ki Dawai |

मोटापा घटने की दवाई  (Motapa Ghatane ki Dawai)

हमें अगर अपना वजन घटाना है या पेट की चर्बी कम करनी है तो सबसे पहले यह समझना जरूरी होता है की वजन बढ़ता क्यों है या बदन या पेट में चर्बी जमती कैसे है ? अगर हम इस प्रक्रिया को समझ ले तो हम वजन बढ़ने की प्रक्रिया रोक सकते हैं और फिर उन वजहों पर ध्यान देकर वजन को कम भी कर सकते हैं। आज के समय में देखा जाए तो वजन बढ़ने की मुख्य वजह हमारी रोजमर्रा की जिंदगी और व्यस्तता है। जिसे लाइफ़स्टाइल भी कहते है। समय का आभाव, काम की व्यस्तता, परिवार की जिम्मेदारी, हालात की मजबूरियों के नाम पर हम अपने शरीर और खान-पान से समझौता करते हैं। जबकि खानपान और स्वस्थ शरीर से ही जिंदगी चलती है। वजन कम करना एक शारीरिक अवस्था से ज्यादा मानसिक अवस्था है जिसमें आपको एक दृढ़ निश्चय और सोच की आवश्यकता होती है। आपको अपने खानपान और दिनचर्या के प्रति जागरूकता लानी होती है एवं उसमें बदलाव करने पड़ते हैं। अगर आपकी सोच मजबूत है और आप अपने शरीर के महत्व को समझ पाते हैं तो वजन घटाना एक आसान कार्य है। आप 4 से 5 किलो तक वजन 1 महीने के अंदर घटा सकते हैं। अब जानते और समझते हैं की किन वजहों से वजन बढ़ता है और इसका निदान कैसे किया जा सकता है।



पेट की चर्बी कम करने की दवा कौन सी है ?

पेट की चर्बी कम करने के लिए मार्किट में कही तरह की दवाइया उपलब्ध है। लेकिन सभी पर आँख बंद कर के भरोसा नहीं किया जा सकता। क्यों की क्या पता किस दवाई से नुकसान या साइड इफ़ेक्ट हो जाये। इसलिए सिर्फ कुछ 4-5 मेडिसिन प्रोडक्ट ही रेकमेंड करुगा, जिससे बिना किसी नुकसान के ज्यादा लोगो को फायदा हुआ है। यह दवाई का नाम कस्टमर रिव्यु और रेटिंग के आधार पर लिख रहा हु।

  1. Blessing tree weight loss supplement
  2. Naturyz LEAN CUTZ Thermogenic Fat Burner
  3. Patanjali divya medohar vati
  4. Apple cider vinegar
  5. Sinew nutrition green coffee powder

1. कैलोरी: हम कुछ भी खाते हैं तो उससे शरीर को ऊर्जा मिलती है और उस उर्जा को कैलोरी के रूप में मापा जाता है। हम जो कुछ भी खाते हैं उससे प्राप्त कैलोरी शरीर दिन भर कार्यरत रहने में खर्च करता है और बची हुई गैलरी को वह फैट या चर्बी के तौर पर रूप में शरीर में इकट्ठा करता है। अगर हम अपने शरीर की जरूरत से ज्यादा कैलोरी शरीर में लेते हैं तो हमें उस कैलरी को बर्न या जलाना चाहिए। अगर हम ऐसा नहीं करते हैं तो फिर यही गैलरी हमारी शरीर में फैट या चर्बी के तौर पर जमने लग जाती है। अतः सबसे जरूरी चीज है कि हम अपने शरीर की जरूरत के मुताबिक ही खाएं और उतनी ही कैलोरी ले जितनी हमारे शरीर को जरूरत है। और अगर ज्यादा लेते हैं तो फिर उसे शारीरिक अभ्यास, व्यायाम या फिर टहल कर, दौड़ कर उस कैलोरी को बर्न करें।

2. शरीर में पानी का ठहराव: मोटापा घटने की दवाई, जैसा कि हम सभी जानते हैं है कि हमारे शरीर में 70% पानी होता और पानी हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है परंतु कई व्यक्तियों में पानी के शरीर से निकलने की रफतार काफी कम या धीमी होती है। जिसकी वजह से शरीर में पानी का बहुत ज्यादा वजन रहता है। ऐसे लोग जब अपना वजन कम करने की प्रक्रिया शुरू करते हैं तो उनका वजन शुरू में बहुत तेजी से घटता है।

3. खराब पाचन तंत्र: मोटापा घटने की दवाई, हम जो भी खाते हैं शरीर उसको पचाता है और फिर बचे हुए खाने या गंदगी को शरीर बाहर निकाल देता है। अगर किसी व्यक्ति की पाचन शक्ति और पाचन तंत्र कमजोर होती है तो खाना अच्छी तरह पचता नहीं है और ना ही शरीर से बाहर निष्कासित होता है। वैसे व्यक्ति को गैस और कब्जियत की काफी शिकायत रहती है और पेट में गंदगी भी जमी रहती है। इसकी वजह से शरीर में भारीपन आता और वजन बढ़ता है। शरीर फुला हुआ होता है ऐसे शरीर में चर्बी से ज्यादा गैस और गंदगी का वजन होता है।

4. खाने में पोषक तत्वों की कमी: आज के समय में ज्यादातर लोग खाना स्वाद के लिए खाते हैं या पेट भरने के लिए। लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि खाने से हमारे शरीर को पोषक तत्व जैसे की विभिन्न तरह के विटामिन,खनिज, प्रोटीन, फाइबर इत्यादि मिलते हैं, जिसका शरीर में काम होता। ये शरीर को स्वस्थ रहने और अच्छी तरह कार्य करने में सहायता करते हैं। जानकारी का आभाव और खानपान के सामानों में मिलावट हमें पोषक तत्वों से दूर रखती है। यह एक बहुत ही बड़ी वजह है जिससे हमारा शरीर कमजोर होता है, वजन बढ़ता है साथ में मोटापा आता है।

5. नींद की कमी: आज के लाइफ स्टाइल में देर रात तक जागना, मोबाइल फोन और टेलीविजन का इस्तेमाल करना बहुत ही सामान्य बात है परंतु इसकी वजह से हमारे शरीर में शरीर को काफी हानि पहुंचती है। एक सामान्य व्यक्ति के लिए रात को 7 घंटे के लगातार नींद जरूरी होती है। इस समय शरीर अपने आप को रिकवर करता है। सारे मसल्स इसी समय रिपेयर होते हैं। नींद की कमी के चलते हैं कुछ हारमोंस का भी स्राव होता है जो वजन को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

6. तनाव: आज के समय में हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में तनाव एक सामान्य सी बात हो गई है लेकिन यह शरीर को मानसिक और आंतरिक तौर पर काफी है क्षति पहुँचाता है। तनाव के चलते हैं हमारे खाने पीने की तौर-तरीके और भोजन की मात्रा में परिवर्तन हो जाता है। सामान्यत: देखा गया है कि जब आप तनाव में होते हैं तब आप बहुत ज्यादा खाने लगते हैं या फिर बहुत कम। जो कि शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है। साथ ही में तनाव के दौरान शरीर से कुछ हारमोंस स्रावित होते हैं जोकि वजन को बढ़ाते हैं।

बहुत सारे व्यक्तियों में मोटापा अनुवांशिक तौर पर आता और यह बहुत बड़ी गलत धारणा है कि ऐसे लोगों का मोटापा या वजन कम नहीं किया जा सकता है। ऐसे लोगों का भी मोटापा कम किया जा सकता और यह पूरी तरह संभव है।और भी कुछ वजह होती है जो व्यक्ति विशेष या उसके परिवेश पर आधारित होती है जिसकी वजह से शरीर में मोटापा चढ़ता है या वजन बढ़ता है। अच्छी बात यह है की इन सभी चीजों को कंट्रोल किया जा सकता है और साथ में वजन को स्वस्थ तरीके से कम किया जा सकता है।

पेट कम करने के ढेर सारे उपाय हैं जिन्हे आप कभी भी और कहीं भी प्राप्त कर सकते हैं । परन्तु सवाल ये है कि क्या आप में इनको आजमाने की काबिलियत है । पहले ये समझ लीजियेगा कि पेट तब बढ़ता है जब हम निष्क्रिय और आलसी हो जाते हैं । और ये भी देखा जाता है कि ऐसे लोग किसी भी चीज में वक़्त की पाबंदी को नहीं मानते । हर क्रिया अनियमित रूप से करते हैं ।

मेरा पेहला सुझाव यहि है कि आप वक्त की पाबंदी मानकर अपना हर काम करें । ब्रेकफास्ट,लंच और डिनर को निर्दित समय पर किजीए । रात में नौ से दस बजे तक सो जाईये और अगले दिन पांच से छह बजे तक उठ जाईए । अपने दूसरे कामों को भी समयबद्ध रखिये। आपको इस समयसारणी युक्त जीवन का व्यापन तब तक करना होगा जब तक यह यकिन नहीं होता कि ये आपकी आदत बन गई है । जब आपको लगे कि आप बहुत ही स्वाभाविक रूप से समयबद्ध जीवन जी रहे हैं तब आप पेट के बारे में अपना यही प्रश्न फिर से पूछियेगा और मै इसका जवाब ज़रूर दूंगा । लेकिन मेरे खयाल से जब आप समय को अपने नियन्त्रण में रखने की क्षमता पा लेंगे तो आप न केवल इस समस्या परन्तु हर समस्या का हल खुद ही ढूंढ निकालेंगे ।


शुरुआत में कपड़े टाइट होने शुरू होते हैं, फिर कुर्सी पर बैठने में दिक्कत होती है। उसके बाद एकाध बार लोग टोकना शुरू करते हैं और आखिर में इंसान मोटापे का उदाहरण बन जाता है।

यह समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है। शाद से पहले इकहरे बदन वाली लड़की कब दोहरे शरीर वाली महिला में परिवर्तित हो जाती है, पता ही नहीं चलता। और यही समस्या पुरुषों में भी रहती है। जिस गोल पेट को सब घर का प्यार समझ रहे होते हैं, किताबों में उसे ही मोटापा कहा गया है।

जब बात हद से बाहर निकल जाती है , तब लोग इसके उपाय और नुस्खे आजमाने शुरू करते हैं। लेकिन कुछ फायदा न देख कर जल्द ही सच्चाई स्वीकार ली जाती है।

इस बढ़े हुए पेट को लेकर जिम भागने और भूखा रहने के बाद भी जब कुछ नहीं होता , तब लोग इस की तरफ़ ध्यान देना ही छोड़ देते हैं।

अब आते हैं उपाय की तरफ:

  1. भूखे रहना छोड़ दें, इससे आपका वजन और तेजी से बढ़ेगा।
  2. अपने शरीर की जरूरत के हिसाब से पानी पिएं।
  3. खाने की मात्रा और पौष्टिकता में रोज सुधार करें।
  4. आपकी लाइफस्टाइल में बदलाव करना होगा जिसे बात करने के बाद ही समझाया जा सकता है।
  5. हो सके तो महंगी और मसाले वाली चीजों से दूरी बना लें।

एक दिन में पेट की चर्बी कैसे कम करें?

इंसान चाहे तो क्या कुछ नही हो सकता।

तो चलिए एक दिन में चर्बी कम करने की विधि पढ़ते है।

1 सुबह जल्दी उठिये।

2 दो गिलास पानी पीजिये।

3 थोड़ा घूमिये ।

4 घूमते घूमते पहुच जाइये किसी अच्छे सर्जन के पास।

5 बस अब आगे का काम सर्जन का है। वो आपके पेट को काट कर अतिरिक्त जमा चर्बी को अलग कर देगा।

इससे सरल उपाय तो शायद ही कोई होगा एक दिन में पेट की चर्बी कम करने का। पर थोड़े से नकारात्मक प्रभाव जरूर होंगे जो कि निम्न है

1 आपका बैंक बैलेंस थोड़ा कम हो जायेगा( कुछ ज्यादा ही काम हो जाएगा) पर बिना चर्बी का पेट पाने के लिए इतना त्याग तो कर ही सकते है।

2 पेट पर सर्जरी के निशान भी नजर आएंगे। लेकिन चिंता ना कीजिये, आप उन्हें कपड़ो के नीचे ढक सकते है।

3 चूंकि बिना मेहनत, कसरत, व्यायाम के चर्बी कम हुई है तो आदतानुसार बहुत जल्दी हीवापस भी आ जायेगी। पर सर्जन भी कहाँ भागा जा रहा है । फिर से पहुच जाइयेगा उसके पास (घूमते घूमते)

Post a Comment

Previous Post Next Post